भोजपुरी फिल्‍म ‘अरब’ में दिखेगा बिहार – यूपी के लोगों के पलायन की पीड़ा

    0

    पलायन, बिहार और यूपी के लोगों के लिए कोई नई चीज नहीं है, लेकिन आज के दौर में यह बेहद गंभीर मसला बन चुका है। चाहे अपने देश में हो या दूसरे देशों में। यहां के लोग पलायन की पीड़ा को सदियों से झेलते रहे हैं। पेट की भूख मिटाने लिए बिहार – यूपी के लोग अपनी माटी से दूर ‘अरब’ तक पहुंच जाते हैं। उसके बाद उन्‍हें क्‍या – क्‍या झेलना होता है, एक ऐसी ही कहानी लेकर निर्देशक पराग पाटिल दर्शकों के बीच आ रहे हैं। अभी हाल ही में इस फिल्‍म का मुहूर्त गुजरात के सिलवासा में किया गया है।
    पलायन पर आधारित इस फिल्‍म का निर्माण वर्ल्‍डवाइड रिकॉर्ड के रत्‍नाकर कुमार कर रहे हैं। रत्‍नाकार कुमार और पराग पाटिल की जोड़ी की पहचान भोजपुरी बॉक्‍स ऑफिस पर लीक से हट कर फिल्‍में बनाने वाले की है। फिल्‍म में भोजपुरी स्‍क्रीन के जुबली स्‍टार दिनेशलाल यादव निरहुआ और यू-ट्यूब क्‍वीन आम्रपाली दुबे नजर आयेंगे। इसके अलावा वरसटाइल एक्‍टर अवेधश मिश्रा, सुशील सिंह, देव सिंह, प्रकाश जैश, सुबोध सेठ, स्‍मृति सिन्‍हा, कनक पांडेय, यामिनी सिंह, जे. नीलम, सोनालिका प्रसाद, हरिकेश यादव, अनिता रावत, रोहित सिंह और दीपक सिन्‍हा भी नजर आयेंगे।
    फिल्‍म ‘अरब’ के पीआरओ रंजन सिन्‍हा ने बताया कि बिहार – यूपी के लोग जब अपने देश को छोड़ कर अरब तक की यात्रा कर लेते हैं। फिर उनके साथ भाषा, रहन – सहन, खान – पान और स्‍थानीय लोगों के साथ सामंजस्‍य बनाना कितना मुश्किल होता है, यह इस‍ फिल्‍म में दिखाया जायेगा। फिल्‍म का मकसद लोगों के बीच एक संदेश पहुंचाना है, इसके लिए भोजपुरी से अच्‍छा कोई लैंग्‍वेज नहीं हो सकता था। इसलिये पराग पाटिल ने इस सब्‍जेक्‍ट पर फिल्‍म बनाने की सोची।
    हालांकि मुहूर्त के दौरान किसी ने फिल्‍म की पटकथा नहीं बताई। लेकिन ये जरूर कहा कि ऐसे इश्‍यू पर पहली बार भोजपुरी में प्रयोग को सभी के लिए नया अनुभव होगा। बात दें कि फिल्‍म की कहानी राकेश त्रिपाठी ने लिखी है। संगीतकार मधुकर आनंद हैं।

    NO COMMENTS

    LEAVE A REPLY

    This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.